कोरोनावायरस की दूसरी लहर देश को तेज़ी से अपने लपेटे में ले रही है. इस बढ़ते संक्रमण से बचने क लिए और इसके इलाज के लिए चिकित्सकों ने कुछ एक्सरसाइजेज बताई है जो की लोग होम आइसोलेशन और हॉस्पिटल दोनों में कर सकते है. इस एक्सरसाइज को प्रोनिंग कहते है और इससे शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है. प्रोनिंग बहुत जल्दी अपना असर दिखाती है और इस एक्सेसिस को करने से आपके ऑक्सीजन लेवेल्स तुरंत ही बढ़ जाते है.

प्रोनिंग में क्या करना होता है ?

सबसे पहले प्रोनिंग के लिए आपको तकियों की जरुरत होगी – एक तकिया अपनी गर्दन के नीचे रखें ,एक या दो तकियें छाती के नीचे इस तरीके से रखें की वो पैरों तक आयें और दो तकिये अपने घुटने से नीचे वाले हिस्से के नीचे रखें. इसके बाद आपको एक एक करके इन पोजीशन में लेट जाना है.

आप 30 मिनट से लेकर 2 घंटे तक इन पोजीशन में लेट सकते हैं.

  • अपने पेट के बल लेट जाएँ
  • दाईं ओर करवट में लेट जाएँ
  • उठ कर बैठें और अपने पैर अपने सामने फैला कर अपने सामने रखें
  • बायीं ओर करवट में लेट जाएँ
  • अब वापस से अपने पेट के बल लेट जाएँ
प्रोनिंग
Source :- manipalhospitals.com

प्रोनिंग के समय किन बातों का ध्यान रखना होता है ?

  • खाने के एक घंटे बाद तक प्रोनिंग पोजीशन में नही लेटना चाहिए
  • किसी भी पोजीशन में उतनी ही देर तक रहे जितने देर आप आरामदायक महसूस करते है.
  • कोई भी इंसान 16 घंटे तक प्रोनिंग कर सकता है अलग अलग साइकल्स में, जैसा की उसे आरामदायक लगे
  • आप तकिये को अपने अनुसार एडजस्ट कर सकते हैं.

किन लोगों को प्रोनिंग नही करनी चाहिए ?

  • गर्भवती महिलाएं इस एक्सरसाइज को ना करे
  • जिन लोगों को दिल की कोई भी गंभीर बीमारी है
  • जिन लोगों ने दिल का कोई ऑपरेशन हाल में ही करवाया हो
  • जिन लोगों की रीड की हड्डी में कोई समस्या हो या जिनकी कूल्हे की हड्डी (पेल्विक बोन) या पैर की हड्डी से जुड़ी कोई समस्या हो वो लोग इस एक्सरसाइज को ना करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.